शनिवार, 24 मार्च 2012

कोंसेप्सन



इस पेंटिंग का नम मैंने "कोंसेप्सन" रक्खा है....चाहे मानस की या शरीर की गर्भाधान प्रक्रिया हो...हमें एक चक्र से गुज़ारना होता है....मैंने कोशिश की है इस प्रक्रिया को रंग रूप देने की...

2 टिप्‍पणियां:

  1. पेंटिंग तो बहुत ही सुन्दर है और जो नाम आपने दिया है उसको चरितार्थ भी कर रहा है .

    उत्तर देंहटाएं